E Shram Card 2022 : ई श्रम कार्ड वर्कर्स का पैसा क्यों नहीं आ रहा है, ये काम करें 100% आपका पैसा आएगा

0
156

ई श्रम कार्ड: ई-श्रम पोर्टल या श्रम पंजीकरण भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर शुरू की गई एक सरकारी योजना है, जिसका लाभ भारत में रहने वाले मजदूर वर्ग के गरीब और बेरोजगार लोग उठा सकते हैं। इस योजना के संचालन का कार्य श्रम एवं रोजगार मंत्रालय को सौंपा गया है। 38 करोड़ मजदूरों के लिए 12 अंकों का यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (UAN) जारी किया जाता है।

दोस्तों आपके लिए यह जानना बहुत जरूरी है कि सरकार की ओर से आपको कितनी सहायता राशि दी जाती है, जिसमें आपको ₹500 से ₹1000 तक हर महीने एक किश्त खाते में दिए जाते हैं। लेकिन कुछ श्रमिकों को सरकार द्वारा भेजी गई किश्त नहीं मिल रही है तो हम उन्हें बताना चाहते हैं कि जिन श्रमिकों के खाते में श्रमिक कार्ड खाता है, जहां हमने श्रमिक कार्ड बनवाया है, वहां आप रोजगार अपडेट कर सकते हैं, वहां आप मिलेगा रोजगार को अपडेट करना जरूरी है, तो आपका पेमेंट जरूर मिलेगा, इसलिए आगे बढ़ें और खुद को अपडेट करें या दो जॉब खुद से करें।

ई-श्रम पोर्टल पर नि:शुल्क पंजीकरण:-

अब तक 27 करोड़ 7 लाख 11 हजार 111 लोगों ने ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण कराया है और उन्हें श्रमिक कार्ड जारी किए जा चुके हैं. अगर आपने अभी तक ई-श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन नहीं कराया है तो हमारा यह लेख आपके लिए है। आज ही रजिस्टर करें और श्रम एवं रोजगार मंत्रालय द्वारा जारी आधिकारिक वेबसाइट eshram.gov.in पर योजना का लाभ उठाएं। पंजीकरण पूरी तरह से नि:शुल्क है।

किस राज्य में हुआ कितना रजिस्ट्रेशन:-

उत्तर प्रदेश में ई-श्रमिक कार्ड बनवाने वालों की संख्या 9 करोड़ को पार कर गई है. ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण के मामले में बिहार दूसरे और पश्चिम बंगाल तीसरे स्थान पर है। चौथे स्थान पर मध्यप्रदेश है। पंजाब में यह 53-55 लाख के बीच ही है।

Portal E-Shram Portal
योजना ई-श्रम कार्ड योजना
के लिये असंगठित क्षेत्र के श्रमिक
वर्ष 2021
लाभ 1000/रुपये प्रति माह, मुफ्त बीमा
आधिकारिक वेबसाइट registration.eshram.gov.in
आवेदन शुल्क ₹ 0/-ई-श्रम कार्ड के लिए पंजीकरण
करने के लिए आवश्यक दस्तावेज।
ई-श्रम विवरण के लिए अन्य लिंक Click Here
Free registration on e-shram portal

 

पुरुषों से अधिक महिलाएं पंजीकृत:-

ई-श्रमिक कार्ड बनाने वालों में ओबीसी 45.42 प्रतिशत, सामान्य वर्ग के श्रमिक 25.51 प्रतिशत, एससी 21.12 प्रतिशत और एसटी 7.94 प्रतिशत हैं। महिलाओं की बात करें तो सबसे ज्यादा 52.74 फीसदी। ई-श्रम पोर्टल पर सबसे अधिक महिलाओं ने पंजीकरण कराया है। कुल मिलाकर पुरुषों के आंकड़ों पर नजर डालें तो पुरुषों का प्रतिशत 47.26 है।

ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण/पंजीकरण विवरण:-

ई-श्रम पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीकरण बहुत आसान है। इसके लिए सरकार ने सेल्फ रजिस्ट्रेशन की भी सुविधा दी है। श्रम एवं रोजगार मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट eshram.gov.in पर जाकर पंजीकरण आसानी से किया जा सकता है। यदि कोई व्यक्ति/कर्मचारी कम्प्यूटर नहीं चला पा रहा है यानि स्व-पंजीकरण नहीं कर पा रहा है तो यह भी घबराने की बात नहीं है। वह किसी भी सीएससी पर जाकर आसानी से अपना रजिस्ट्रेशन करा सकता है। इसके लिए आधार कार्ड, पैन कार्ड, बैंक अकाउंट, फोटो और एक वैध मोबाइल नंबर जैसे जरूरी दस्तावेजों की जरूरत होगी। इसे अपने साथ ले जाएं और पंजीकरण करें और योजना का लाभ प्राप्त करें।

ई-श्रम कार्ड के लिए ऑनलाइन पंजीकरण की प्रक्रिया:-

  • ई-श्रम कार्ड के लिए ऑनलाइन पंजीकरण/आवेदन ई-श्रम पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट eshram.gov.in से किया जा सकता है। इसके लिए सबसे पहले आपको इस आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • जो होम पेज खुलेगा उसमें रजिस्टर ऑन ई-श्रम के विकल्प पर क्लिक करें।
  • ई-श्रम पर रजिस्टर पर क्लिक करने पर पंजीकरण फॉर्म खुल जाएगा। फॉर्म में आधार कार्ड से जुड़ा अपना
  • मोबाइल नंबर, कैप्चा कोड, ईपीएफओ और ईएसआईसी मेंबर स्टेटस डालें।
  • अगले चरण में मोबाइल नंबर पर ओटीपी भेजने के विकल्प का चयन करें। आपके द्वारा दिए गए मोबाइल नंबर पर ओटीपी भेजा जाएगा। इस ओटीपी को ओटीपी बॉक्स में टाइप करें।
  • अब आपके सामने जो एप्लीकेशन फॉर्म आएगा उसमें आपको अपना नाम, उम्र, पता, सैलरी जैसी व्यक्तिगत जानकारी भरनी होगी। आधार कार्ड में दिया गया नाम, उम्र और पता केवल लेबर कार्ड के आवेदन के लिए ही भरें।
  • फॉर्म के साथ जरूरी दस्तावेज अपलोड करें। फॉर्म भरते समय सावधानी बरतें ताकि कोई गलती न हो।
  • फॉर्म भरने के बाद इसे एक बार मिक्स कर लें। इसके बाद सबमिट ऑप्शन पर क्लिक करें।

ई-श्रम कार्ड पंजीकरण के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज:-

1. आधार कार्ड

2. पैन कार्ड

3. पासपोर्ट साइज फोटो

4. वैध मोबाइल नंबर

5. बैंक खाता विवरण

ई-श्रमिक कार्ड बनाने के लिए योग्यता:-

श्रम एवं रोजगार मंत्रालय की ओर से जारी बयान में बताया गया कि भारत में रहने वाला कोई भी गरीब मजदूर, निर्माण श्रमिक, प्रवासी मजदूर, रेहड़ी-पटरी वाला, घरेलू कामगार, खेतिहर मजदूर, सफाई कर्मचारी, गार्ड, हाउसकीपर, रह रहा है. असंगठित क्षेत्र में नौकरानी, ​​रसोइया, नाई, मोची, दर्जी, प्लंबर, रिपेयरमैन, इलेक्ट्रीशियन, दुकान नौकर, सेल्समैन, हेल्पर, ऑटो चालक, ड्राइवर, पंचर बनाने वाला, मछुआरा, उत्तर मंदिर का पुजारी और कोई अन्य कर्मचारी प्राप्त करने के लिए आवेदन कर सकता है। श्रमिक कार्ड। एक शर्त है कि आवेदक ईएसआईसी और ईपीएफओ का सदस्य नहीं होना चाहिए। अगर कोई व्यक्ति ईएसआईसी और ईपीएफओ का सदस्य है तो वह लेबर कार्ड नहीं बनवा सकता।

यूपी के मजदूरों को ई-श्रम कार्ड से मिलेंगे 500 रुपये प्रति माह:-

उत्तर प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने करोड़ों श्रमिकों की आर्थिक मदद का औचित्य बताते हुए ई-श्रमिक कार्ड बनाने वाले श्रमिकों को भरण पोषण भत्ता देने की घोषणा की है. मुख्यमंत्री के इस ऐलान के बाद रजिस्ट्रेशन की ऐसी बाढ़ आ गई कि उत्तर प्रदेश में ई-श्रमिक कार्ड बनवाने वालों की संख्या 9 करोड़ को पार कर गई है.

इस कार्ड के जरिए असंगठित क्षेत्र के कामगारों और कामगारों के खाते में हर महीने ₹500 भेजे जाएंगे। इसकी पहली किस्त यानी दिसंबर और जनवरी महीने की एक हजार आवेदकों के खाते में आ गई है। अब फरवरी और मार्च की दूसरी किस्त के लिए 1000 रुपये का इंतजार है। जिन उम्मीदवारों ने ई-श्रम कार्ड पंजीकरण 2022 पूरा कर लिया है। कि भारतीय मजदूर अपने ई-श्रम कार्ड भुगतान की स्थिति की जांच कर सकते हैं।

ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण के अन्य लाभ:-

ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण करने से श्रमिक नागरिकों को इस 500 रुपये प्रतिमाह के अलावा भी कई लाभ होंगे:-

श्रमिकों को भारत सरकार की महत्वपूर्ण कल्याणकारी योजनाओं का लाभ भी मिलेगा। पसंद करना –

  • प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना,
  • स्व-नियोजित लोगों के लिए राष्ट्रीय पेंशन योजना,
  • प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना,
  • प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना,
  • सार्वजनिक वितरण प्रणाली,
  • अटल पेंशन योजना,
  • आयुष्मान भारत,
  • प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना,
  • प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना।
  • ई-श्रम कार्ड धारक को प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत 2 लाख रुपये का दुर्घटना बीमा मिलेगा।
  • भविष्य में पेंशन की सुविधा मिल सकती है।
  • सरकारी अस्पताल में स्वास्थ्य उपचार में आर्थिक सहायता दी जाएगी।
  • गर्भवती महिलाओं को बच्चों के भरण-पोषण के लिए समुचित सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी।
  • प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास निर्माण में सहायता के रूप में राशि प्रदान की जाएगी।
  • श्रम विभाग की अन्य योजनाएं जैसे निःशुल्क साइकिल, बच्चों को छात्रवृत्ति। फ्री सिलाई मशीन और फ्री वर्किंग इक्विपमेंट का भी लाभ लेने का मौका मिलेगा।
  • केंद्र और राज्य सरकार की चल रही सरकारी योजनाओं या भविष्य में लागू होने वाली सभी योजनाओं का सीधा लाभ मिलेगा.

E Shram Card [FAQ]

Q1.लेबर कार्ड में पैसा कब आएगा?

Ans.पहली किश्त में दिया गया पैसा दिसंबर और जनवरी महीने का था, जो फरवरी तक खाते में आ गया है. लेबर कार्ड की दूसरी किस्त जो फरवरी और मार्च महीने के लिए होगी, इस महीने के अंत तक आपके खाते में आ जाएगी. हालांकि, दूसरी किस्त का पैसा उन श्रमिकों को भी दिया जाएगा, जिन्हें पहली किस्त जारी कर दी गई है।

payment-rcv

Q2.ई श्रम कार्ड योजना क्या है?

Ans.उत्तर प्रदेश की बात करें तो यहां की सरकार पहले ही घोषण कर चुकी है कि ई-श्रम कार्ड योजना के अंतर्गत वो श्रमिकों के बैंक खाते में हर महीने 500 रुपये भेजने का काम करेगी. लेकिन योजना के अनुसार, इसका लाभ उन्हीं श्रमिकों को दिया जाएगा, जिन्होंने अब तक श्रम विभाग की किसी भी योजना का लाभ नहीं उठाया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here