मुफ्त राशन पर खुशखबरी, कल से बंटेगा कोटा, अगस्त माह का चावल, गेहूं बांटा जाएगा?

0
113

मुफ्त राशन के लाभार्थियों के लिए अच्छी खबर है। कोटा की दुकानों पर मुफ्त वितरण के लिए चावल आ गया है। कल यानी 14 अक्टूबर से इसका वितरण किया जाएगा। चावल एक हफ्ते यानि 20 अक्टूबर तक ले सकते हैं। फिलहाल गेहूं का वितरण नहीं किया जाएगा। कोटेदार सुबह छह बजे से रात नौ बजे तक राशन बांटेंगे।

अधिकारियों के अनुसार प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत अगस्त माह का नि:शुल्क चावल 14 अक्टूबर से 20 अक्टूबर तक वितरित किया जाएगा. वाराणसी जिला आपूर्ति अधिकारी उमेश चंद्र मिश्रा ने बताया कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का मुफ्त चावल वितरित किया जाएगा. अगस्त माह में शुक्रवार से उचित मूल्य की दुकानों से। यह वितरण 20 अक्टूबर तक चलेगा।

उन्होंने कहा कि अंत्योदय कार्ड और पात्र घरेलू कार्ड धारकों को प्रति यूनिट 5 किलो चावल मुफ्त मिलेगा। जिले में सभी दुकानों पर चावल उपलब्ध है। कार्डधारक को चावल समय पर मिलना चाहिए। यदि ठेकेदार द्वारा किसी प्रकार की त्रुटि पाई जाती है तो तत्काल शिकायत करें, सख्त कार्रवाई की जाएगी। आपूर्ति निरीक्षक सदर उदय राज ने कोटेदारों को 14 अक्टूबर से वितरण शुरू करने को कहा है। सभी लोगों की ई पास मशीन चालू हो। अन्यथा वितरण में गड़बड़ी पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी।

एक माह में होगा राशन कार्डों का सत्यापन

अंत्योदय और पात्र घरेलू राशन कार्ड धारकों का सत्यापन 30 दिनों में पूरा किया जाएगा। अपात्र हितग्राहियों की पहचान करते हुए उनका कार्ड निरस्त कर नये पात्र हितग्राहियों का चयन किया जायेगा। इस संबंध में खाद्य आयुक्त मार्कंडेय शाही ने राज्य के सभी जिलाधिकारियों और जिला आपूर्ति अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए हैं.

अतिरिक्त खाद्य आयुक्त अनिल कुमार दुबे ने कहा कि लाभार्थियों का विवरण समय-समय पर बदलता रहता है। कुछ लाभार्थी निर्धारित मानदंडों के अनुसार पात्रता श्रेणी में नहीं रहते हैं। उन्होंने कहा कि अपात्र इकाइयों को भी प्रचलित राशन कार्डों में शामिल किया गया है। ऐसे अपात्र राशन कार्डधारियों के कार्डों का सत्यापन निरस्त कर उनके स्थान पर नियमानुसार नये पात्र हितग्राहियों को निर्गत किया जा रहा है।

सत्यापन के समय, राशन कार्ड डेटाबेस में परिवार के सदस्यों की संख्या, उनकी आयु, निवास स्थान आदि जैसे विवरण शामिल होते हैं। इस संबंध में कुछ कार्डधारकों की मृत्यु या उनकी वित्तीय स्थिति में परिवर्तन के कारण संबंधित कार्डधारकों की अपात्रता की संभावना है। उत्तर प्रदेश आवश्यक वस्तु (विक्रय एवं वितरण नियंत्रण नियमन) आदेश, 2016 में सत्यापन की व्यवस्था दी गई है।

Recent Posts…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here